Bihar Marriage Certificate

You are currently viewing Bihar Marriage Certificate

बिहार विवाह प्रमाण पत्र

जैसा की हम जानते हैं की विवाह प्रमाण पत्र एक कानूनी दस्तावेज़ हैं जो यह प्रमाणित करता है की कोई व्यक्ति कानूनी रूप से किसी से विवाहित हैं| बिहार में, विवाह या तो हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 या विशेष विवाह अधिनियम, 1954 के स्वरुप रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। Marriage रजिस्ट्रार उसे बिहार राज्य सरकार की मुहर के अंतर्गत जारी करता है। Marriage Certificate बहुत से कार्य में उपयोगो होता है और ये सामाजिक सुरक्षा प्रदान करता है| इस आर्टिकल में, हम Bihar Marriage Certificate कैसे प्राप्त करे इस प्रक्रिया हम विस्तार से जानेंगे।

विवाह प्रमाण पत्र का उद्देश्य

बाल विवाह को रोकथाम करने के लिए।
विधवाओं को सम्पति का दावा करने में सक्षम बनाने के लिए।
जोड़ों के लिए जीवनसाथी वीज़ा का उपयोग करके यात्रा करने के लिए।
जीवनसाथी के निधन होने की स्थिति में बैंक पूंजी और जीवन बीमा का दावा करने के लिए।

विवाह प्रमाणपत्र आवश्यक दस्तावेज

विवाह का प्रमाण होना चाहिए|
Address Proof के लिए: (मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि)
वर और वधू की जन्मतिथि का प्रमाण होना चाहिए|
वर और वधू का निवास प्रमाण
दोनों पक्षों की तस्वीर होना चाहिए|
शादी का निमंत्रण कार्ड
विवाह फोटोग्राफ
पासपोर्ट साइज फोटो
आवेदक के पास हिंदू विवाह अधिनियम के अंतर्गत विवाह रजिस्ट्रेशन करने के लिए 100 रुपये का शुल्क देना होगा। विशेष विवाह अधिनियम के मामले में, आवेदक से रजिस्ट्रेशन के लिए 150/- रुपये का शुल्क लगाया जाएगा।

विवाह प्रमाण पत्र पात्रता

शादी के एक महीने बाद दूल्हा-दुल्हीन आवेदन के पात्र होंगे।
दूल्हे की उम्र 21 वर्ष और दुल्हन की उम्र 18 वर्ष न्यूनतम होनी चाहिए।
जिस जिले में शादी का पंजीकरण का आवेदन होना है, उस जिले में दूल्हा और दुल्हन कम से कम एक महीने तक रहे हों।

विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन प्रक्रिया

1: सर्वप्रथम आवेदक को बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा।

2: इसके बाद होम पेज पर “अधिनियम, नियम, आदि” के विकल्प दिखाई देगा उस पर आपको क्लिक करना होगा।

3: इसके बाद Next पेज पर, आवेदन करने वाले बिहार विवाह पंजीकरण नियम के स्वरूप विवाह रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन पत्र को डाउनलोड कर सकता है।

4: अब आपको फॉर्म के सभी आवश्यक डिटेल्स को दर्ज करके आवश्यक दस्तावेज का साथ संलग्न करें।

5: विधिवत भरे हुए फॉर्म को आवश्यक दस्तावेज के साथ रजिस्ट्रार कार्यालय के संबंधित प्राधिकारी के पास जमा कराना होगा।

6: जमा करने के बाद संबंधित कार्यालय से आप आवेदन के लिए पावती(Acknowledgement) रसीद प्राप्त करें।

7: आवेदन सत्यापित हो जाने के बाद, आवेदक को आवेदन की तिथि से सात कार्य दिवसों के पहले विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त हो जाएगा।

Leave a Reply